Class 11 Hindi Aroh NCERT Solutions for Chapter 15 (Updated for 2021-22)

Class 11 Hindi Aroh NCERT Solutions for Chapter 15

NCERT Solutions for Class 11 Hindi Aroh Chapter 15: Download and refer to the NCERT Solutions to better understand Aroh Class 11 Chapter 15. Our subject-matter specialists have developed these NCERT Solutions. They followed the CBSE criteria when creating the CBSE Class 11 Hindi Aroh Chapter 15 Solutions. As a result, by understanding the chapter with the help of these solutions, students will undoubtedly ace their Hindi tests. The NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15 are written in plain English so that students may comprehend them while studying for their exams.

Download Free PDF of NCERT Solutions for Class 11 Hindi Aroh Chapter 15

Class 11 Hindi Aroh NCERT Solutions for Chapter 15 Free PDF

 


NCERT Solutions for Class 11 Hindi Aroh Chapter 15: Overview 

Introduction

The great legendary poet Bhavani Prasad Mishra penned the Class 11 Poem 15 Ghar ki Yaad. With his family, the poet is reminiscing about happy memories. He misses his siblings, parents, and brothers and sisters. Meanwhile, he’s lost in the turmoil of the city, trying to figure out who he really is. In the midst of a mob of greedy individuals, he is investigating himself.

Every drop dropping on the ground makes him feel exposed to his circumstances as soon as the clouds pour and thunder. He misses his adored father’s love, his sweet-hearted mother’s pampering, and his rambunctious siblings. He asks the clouds and the season to communicate his emotions to his loved ones, but not the pain he is experiencing. He is alone and upset at such location.

The poem is a little lengthier, but many of the lines carry a lot of significance beyond the words. The utilization of poetry tools and language is fantastic. As a result, having a thorough knowledge of each statement and solving NCERT questions to the point is a top concern. Download the NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15 Ghar ki Yaad free pdf below to learn more about the poem’s hidden meaning.

These NCERT Solutions of this chapter are available in PDF format, downloading which makes an excellent way for revising the chapter quickly even when you are not connected to the internet.

NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15 available on our website are in strict adherence with the latest CBSE guidelines.

Every question of Ghar ki Yaad Class 11 Chapter is explained in clear and simple language so that students find it easy to understand and not too daunting to study.

Access NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15

कविता के साथ
प्रश्न 1:
पानी के रात भर गिरने और प्राण-मन के धिरने में परस्पर क्या संबंध है?
उत्तर –
‘घर की याद’ का आरंभ इसी पंक्ति से होता है कि ‘आज पानी गिर रहा है। इसी बात को कवि कई बार अलग-अलग ढंग से कहता है-‘बहुत पानी गिर रहा है’, ‘रात भर गिरता रहा है। भाव यह है कि सावन की झड़ी के साथ-साथ ‘घर की यादों’ से कवि का मन भर आया है। प्राणों से प्यारे अपने घर को, एक-एक परिजन को, माता-पिता को याद करके उसकी आँखों से भी पानी गिर रहा है। वह कहता है कि ‘घर नज़र में तैर रहा है। बादलों से वर्षा हो रही है और यादों से घिरे मन का बोझ कवि की आँखों से बरस रहा है।

प्रश्न 2:
मायके आई बहन के लिए कवि ने घर को ‘परिताप का घर’ क्यों कहा है?
उत्तर –
कवि ने बहन के लिए घर को परिताप का घर कहा है। बहन मायके में अपने परिवार वालों से मिलने के लिए खुशी से आती है। वह भाई-बहनों के साथ बिताए हुए क्षणों को याद करती है। घर पहुँचकर जब उसे पता चलता है कि उसका एक भाई जेल में है तो वह बहुत दुखी होती है। इस कारण कवि ने घर को परिताप का घर कहा है।

प्रश्न 3:
पिता के व्यक्तित्व की किन विशेषताओं को उकेरा गया है?
उत्तर –
कवि अपने पिता की निम्नलिखित विशेषताएँ बताता है –

  1. उनके पिता को वृद्धावस्था कभी कमजोर नहीं कर पाई।
  2. वे फुर्तीले हैं कि आज भी दौड़ लगा सकते हैं।
  3. खिलखिलाकर हँस सकते हैं।
  4. वे इतने उत्साही हैं कि मौत के सामने भी हिचकिचा नहीं सकते।
  5. उनमें इतना साहस है कि वे शेर के सामने भी भयभीत नहीं होंगे। उनकी आवाज़ मानो बादलों की गर्जना है।
  6. हर काम को तूफ़ान की रफ्तार से करने की उनमें अद्भुत क्षमता है।
  7. वे गीता का पाठ करते हैं और आज भी 260 (दो सौ साठ) तक दंड पेलते हैं, मुगदर (व्यायाम करने का मजबूत भारी लकड़ी का यंत्र) घुमाते हैं।
  8. आँखों में जल भर दिया है। वे भावुक भी हैं।

प्रश्न 4:
निम्नलिखित पंक्तियों में ‘बड्स’ शब्द के प्रयोग की विशेषता बताइए-

मैं मजे में हूँ सही है
घर नहीं हूँ बस यही है
किंतु यह बस बड़ा बस है।
इसी बस से सब विरस हैं।

उत्तर –
कवि ने बस शब्द का लाक्षणिक प्रयोग किया है। पहली बार के प्रयोग का अर्थ है कि वह केवल घर पर ही नहीं है। दूसरे प्रयोग का अर्थ है कि वह घर से दूर रहने के लिए विवश है। तीसरा प्रयोग उसकी लाचारी व विवशता को दर्शता है। चौथे बस से कवि के मन की व्यथा प्रकट होती है जिसके कारण उसके सारे सुख छिन गए हैं।

प्रश्न 5:
कविता की अंतिम 12 पंक्तियों को पढ़कर कल्पना कीजिए कि कवि अपनी किस स्थिति व मन:स्थिति को अपने परिजनों से छिपाना चाहता है?
उत्तर –
इन पंक्तियों में कवि स्वाधीनता आंदोलन का वह सेनानी है जो जेल की यातना झेलकर भी यातनाओं की जानकारी अपने परिवार के लोगों को इसलिए नहीं देना चाहता है, क्योंकि इससे वे दुखी होंगे। कवि कहता है कि हे सावन ! उन्हें मत बताना कि मैं अस्त हूँ। यहाँ जैसा दुखदायी माहौल है उसकी जानकारी मेरे घरवालों को मत देना। उन्हें यह मत बताना । कि मैं ठीक से सो भी नहीं पाता और मनुष्य से भागता हूँ। कहीं उन्हें यह मत बताना कि जेल की यातनाओं से मैं मौन हो गया हूँ, कुछ नहीं बोलता। मैं स्वयं यह नहीं समझ पा रहा कि मैं कौन हूँ? अर्थात् देश-प्रेम अपराध की सजा? कहीं ऐसा न हो कि मेरे माता-पिता को शक हो जाए कि मैं दुखी हूँ और वे मेरे लिए रोने लगें हे सावन! तुम बरस लो जितना बरसना है, पर मेरे माता-पिता को रोना न पड़े। अपने पाँचवें पुत्र के लिए वे न तरसे अर्थात् वे हर हाल में खुश रहें। कवि उन्हें ऐसा कोई संदेश नहीं देना चाहता जो दुख का कारण बने।

कविता के आसपास
प्रश्न 1:
ऐसी पाँच रचनाओं का संकलन कीजिए जिसमें प्रकृति के उपादानों की कल्पना संदेशवाहक के रूप में. की गई है।
उत्तर –
विद्याथी स्वयं करें।

प्रश्न 2:
घर से अलग होकर आप घर को किस तरह से याद करते हैं? लिखें।
उत्तर –
विद्यार्थी अपने अनुभव लिखें।

अन्य हल प्रश्न

लघूत्तरात्मक प्रश्न
प्रश्न 1:
‘घर की याद’ कविता का प्रतिपादय लिखिए।
उत्तर –
इस कविता में घर के मर्म का उद्घघाटन है। कवि को जेल-प्रवास के दौरान घर से विस्थापन की पीड़ा सालती है। कवि के स्मृति-संसार में उसके परिजन एक-एक कर शामिल होते चले जाते हैं। घर की अवधारणा की सार्थक और मार्मिक याद कविता की केंद्रीय संवेदना है। सावन के बादलों को देखकर कवि को घर की याद आती है। वह घर के सभी सदस्यों को याद करता है। उसे अपने भाइयों व बहनों की याद आती है। उसकी बहन भी मायके आई होगी। कवि को अपनी अनपढ़, पुत्र के दुख से व्याकुल, परंतु स्नेहमयी माँ की याद आती है। वह सावन को दूत बनाकर अपने माता-पिता के पास अपनी कुशलक्षेम पहुँचाने का प्रयास करता है ताकि कवि के प्रति उनकी चिंता कम हो सके।

प्रश्न 2:
पिता कवि को ‘सोने पर सुहागा’ क्यों कहते हैं?
उत्तर –
पिता कवि से बहुत स्नेह करते थे। पिता की इच्छा से ही कवि ने स्वयं को देश-सेवा के लिए अर्पित किया था। जिसकी वजह से वह आज जेल में था। उसने परिवार का नाम रोशन किया। इन कारणों से पिता ने कवि को सोने पर सुहागा कहा।

प्रश्न 3:
उम्र बड़ी होने पर भी पिता को बुढ़ापा क्यों नहीं छू पाया था?
उत्तर –
कवि के पिता की आयु अधिक थी, परंतु वे सरल स्वभाव के थे। निरंतर व्यायाम करते थे और दौड़ लगाते थे। वे खूब काम करते थे तथा निर्भय रहते थे। इस कारण उन्हें बुढ़ापा छू नहीं पाया था।

प्रश्न 4:
‘देखना कुछ बक न देना’ के स्थान पर ‘देखना कुछ कह न देना’ के प्रयोग से काव्य-सौंदर्य में क्या अंतर आ जाता?
उत्तर –
कवि यदि ‘बक’ शब्द के स्थान पर ‘कह’ शब्द रख देता तो कथन का विशिष्ट अर्थ समाप्त हो जाता। ‘बकना’ शब्द खीझ को प्रकट करता है। ‘कहना’ सामान्य शब्द है। अत: ‘बक’ शब्द अधिक सटीक है।

Access Other Chapters of NCERT And NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15

You can download the PDF of NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh other chapters:

We have provided all the important above in the article regarding the CBSE NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15. If you have any queries, you can mention them in the comment section.

FAQ (Frequently Asked Questions): NCERT Solutions For Class 11 Hindi Aroh Chapter 15

What is a Compelling Author to Remember his Family?

The continuous rain, the thundering of clouds, and sparkling lightning are compelling the author to remember his family. Every drop which falls on earth provokes more to realize his situation.

According to the Author, How Would his Father be Consoling Himself?

According to the author, his father must be pretending to be strong. But, the years flowing through his old eyes would reveal everything to the author’s mother. Father has to pretend to be strong to give strength to the younger children of the family and uphold them. However, inside, he would be desperate to meet his son.

Why is the Author Upset?

The author is upset because of two reasons. The first is the absence of his family near him. Second, he is lost among the crowd of selfish people. He is unable to identify himself, his aspirations, and his goals. The people around him are haunting him in this meaningless world.

Who is the Message Sender for the Author?

The author requests the dense black rainy clouds and the season of rain to convey his message to the family. Here lies the deep concept of feelings. As feelings can travel from one place to another very easily, similarly, the clouds can too. Thus, they are the carrier of his feelings.

Is the Kopy Kitaab website Reliable for Language-Based Subjects too?

Our website is constructed by one of the most trusted faculty of India. They are experts in their subjects. So every study material is reliable, whether it is a language-based subject or numerical-based calculation.

Leave a Comment